राष्‍ट्रीय स्‍वच्‍छ प्रतिष्ठित स्‍थलों की 5वीं समीक्षा,20 स्‍थानों पर स्‍वच्‍छता में महत्‍वपूर्ण प्रगति…

Spread the love

 

मुंबई , पेयजल और स्‍वच्‍छता मंत्रालय तथा राज्‍य सरकार की एजेंसियों, स्‍थानीय प्रशासन तथा स्‍वच्‍छ प्रतिष्ठित स्‍थानों (एसआईपी) के ट्रस्‍ट/बोर्ड की मुंबई में दो दिन की बैठक हुई। इसमें देशभर के 100 प्रतिनिधि शामिल हुए। विचार-विमर्श में छत्रपति शिवाजी टर्मिनस का फील्‍ड दौरा शामिल हैं जहां प्रणालीबद्ध तरीके से स्‍वच्‍छता और पुर्नस्‍थापन कार्य चल रहा है। स्‍वच्‍छ प्रतिष्ठित स्‍थानों की पहल का उद्देश्‍य प्रतिष्ठित स्‍थानों पर स्‍पष्‍ट रूप से उच्‍च स्‍तर की स्‍वच्‍छता विशेषकर अपने दायरे में और संपर्क क्षेत्रों में स्‍वच्‍छता है। प्रधानमंत्री द्वारा दिए गए ‘स्‍वच्‍छता सबका कार्य’ नारे के बाद केंद्र तथा चयनित राज्‍यों ने देश के प्रतिष्ठित स्‍थानों को स्‍वच्‍छ बनाने के लिए संयुक्‍त प्रयास शुरू किए हैं। प्रतिष्ठित स्‍थानों पर विशेष स्‍वच्‍छता पहल को सार्वजनिक और निजी कंपनियों से कॉरपोरेट सामाजिक दायित्‍व (सीएसआर) समर्थन मिला है।

विचार-विमर्श के दौरान एसआईपी के चरण-1 त‍था चरण-2 में 20 स्‍थानों पर किए गए कार्यों की समीक्षा की गई। इन स्‍वच्‍छ प्रतिष्ठित स्‍थानों ने स्‍वच्‍छता सुविधाओं के विकास में महत्‍वपूर्ण प्रगति दिखाई।

समीक्षा बैठक की अध्‍यक्षता करते हुए पेयजल तथा स्‍वच्‍छता मंत्रालय के सचिव श्री परमेश्‍वरन अय्यर ने विभिन्‍न टीमों के प्रयासों की सराहना की और स्‍वच्‍छता सुधार में अंतर-क्षेत्रीय सहयोग के महत्‍व पर बल दिया।

महानिदेशक, विशेष परियोजना, स्‍वच्‍छ भारत मिशन श्री अक्षय राउत ने पिछले दो वर्षों में विभिन्‍न प्रतिष्ठित स्‍थानों पर स्‍वच्‍छता कार्य काफी प्रगति के बारे में प्रजेंटेशन दिया। प्रतिष्ठित स्‍थानों पर स्‍वच्‍छता संबंधी प्रयासों को दिखाया गया। महाराष्‍ट्र के अपर मुख्‍य सचिव श्री शामलाल ने राज्‍य द्वारा खुले में शौच से मुक्‍त (ओडीएफ) क्षेत्र को बढ़ाने के लिए किए गए कार्य पर प्रकाश डाला।

पेयजल तथा स्‍वच्‍छता मंत्रालय के सचिव ने मंत्रालय द्वारा बनाए गए स्‍वच्‍छ प्रतिष्ठित स्‍थान (एसआईपी) पोर्टल और लोगो लॉंच किया। एसआईपी लाइव पोर्टल है  http://swachhiconicplaces.gov.in/ 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *