मुख्यमंत्री ने किया सुपर स्पेशलिटी यूनिट का शिलान्यास….

Spread the love

 

 

शरद शर्मा दैनिक नगर संवाद कानपुर

कानपुर नगर, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा बुधवार को प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना फेस 4 जी.एस.वी.एम. मेडिकल कालेज मेें निर्माणाधीन सुपर स्पेशलिटी यूनिट का शिलान्यास करने कानपुर पहुंचे। इस अवसर पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे.पी. नड्डा, विज्ञान एवं प्रौधोगिकी मंत्री हर्षवर्धन भी उपस्थित रहे। मुख्यमंत्री मेडिकल काॅलेज सुबह 10 बजे पहुंचे तथा कार्यक्रम के उपरान्त 11 बजे फतेहपुर के लिए रवाना हुए। मुख्यमंत्री ने मेडिकल काॅलेज के सुपर स्पेशलिटी यूनिट का उदघाटन किया। प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के चतुर्थ चरण में जी.एस.वी.एम. मेडिकल काॅलेज को शामिल किया गया जिसमें एम्स जैसी चिकित्सा सुविधाएं मुहैया कराने के लिए 200 करोड रूपये से मल्टी सुपर स्पेशलिटी यूनिट का निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है और इसके शिलान्यास समारोह का आयोजन आज दिनांक 27/2/2019 को किया गया।

मेडिकल काॅलेज पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुपर स्पेशलिटी यूनिट के माॅडल पर से परदा हटाकर शिलान्यास किया। इस दौरान उनके साथ केंद्रीय स्वास्थ्य एवं पारिवार कलयाण मंत्री जे.पी. नड्डा, केंद्रीय विज्ञान, प्रौधेागिकी एवं पर्यावरण मंत्री डा0 हर्षवर्धन, केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल, पूर्व केंद्रीय मंत्री व सांसद डा0 मुरली मनोहर जोशी तथा चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन, सांसद देवेन्द्र सिंह भोले, औधोगिक विकास मंत्री सतीश महाना, एमएसएमई मंत्री सत्यदेव पचैरी तथा अरूण पाठक आदि उपस्थित रहे।

डाक्टरो की संवेदनहीनता की निंदा की, कहा चिकित्सों को हर मरीज को ठीक करने का लेना होग जिम्मा
कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने अपने संबोधन में ऐसे डाक्टरो की निंदा की और उन्हे जमकर धिक्कारा जो अपने पेशे के प्रति इमानदार नही है और तीमारदारों के प्रति संवेदनहीन होते है। उन्होेने कहा जब वह लखनऊ में यह सुनते है कि कानपुर में डाक्टरो ने तीमारदारों के साथ मार-पीट की तो उन्हे बहुत कष्ट होता है और इसी बात को लेकर मुख्यमंत्री ने डाक्टरो के इस रवैये की निंदा की। मुख्यमंत्री योगी ने कहा अच्छी पढाई करने से ही संवेदना नही होती है। कहा अधिकतर डाॅक्टर शहर की ओर भागने में लगे रहते है जबकि भारत सरकार ग्रामीण क्षेत्रों में भी डाक्टरो के लिए उचित सुविधा उपलब्ध कराने के लिए प्रयासरत रहती है। कहा ग्रामीण क्षेत्रों में डाक्टर एक महीने जाते है और दो माह की छुटटी लेकर बैठ जाते है। योगी आदित्यनाथ डाक्टरो के रवैये से असंतोष दिखे और बोले डाक्टर अस्पताल जाये अथवा न जाये सरकार जनता तक अच्छी चिकित्सा सुविधा पहुंचायेगी। उन्होने कहा कि जिस प्रकार से देश की सीमा पर मौजूद जवान हमारी सुरक्षा की पूरी जिम्मेदारी लेता है ठीक वैसे ही चिकित्सकों को भी हर मरीज को ठीक करने की जिम्मेदारी लेनी होगी। इसी क्रम में सीएम ने टेलीमेडिसिन की शुरूआत की जिन्हे मेडिकल काॅलेजों से जोडा जायेगा। उन्होने कहा कि मेडिकल की पढाई करने वाले छात्र चिकित्सक बनकर इसे मात्र व्यापार न बनाये, बल्कि उनका उददेश्य होना चाहिये कि वह एक ऐसे चिकित्सक बने कि उनके कार्यो की सभी प्रशंसा करे। सीएम ने बताया कि केंद्र सरकार के सहयोग से प्रदेश में 15 नए मेडिकल काॅलेज बन रहे है इसके साथ ही गोरखपुर तथा राबरेली में एम्स ओ.पी.डी. की शुरूआत हो चुकी है साथ ही कहा कि मेरठ, प्रयागराज तथा झांसी में सुपर स्पेशलिटी यूनिट बनकर तैयार है वहीं कहा कि कानपुर के जी.एस.वी.एम. मेडिकल काॅलेज में नए यूनिट का काम तय समय सीमा में पूरा होगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने कानपुर में बुावार को गणेश शंकर विधार्थी मेडिकल काॅलेज के सुपर स्पेशलिटी यूनिट के शिलान्यास के दौरान उन्होने भारत को विश्व की सबसे बडी शक्ति बताते हुए कहा कि जिस प्रकार से देश की सीमा पर मौजूद जवान हमारी सुरक्षा की पूरी जिम्मेदारी लेता है ठीक उसी प्रकार से डाक्टरो को भी हर मरीज को ठीक करने का जिम्मा लेना है। उन्होने कहा वह अपनी जिम्मेदारी से बच नही सकते है। उन्होने यह भी कहा कि यह उनका मानना है कि चिकित्सक संवेदनहीन नही हो सकता और यदि यह भाव मन मे है तो इतना समझ लीजिये कि भारत को दुनिया की महाशिक्ति बनने से कोई भी ताकत रोक नही सकती है। साथ ही उन्होने पाकिस्तान की कायराना हरकत पर भी प्रहार किया। उन्होने ग्रामीण क्षेत्रों में आज भी चिकित्सकों की कमी को मानते हुए कहा कि चिकित्सक ग्रामीण क्षेत्रों में रूकना नही चाहते है, जब कि उन्हे वहां तैनात किया जाता है। कहा केंद्र सरकार के पास पैसे की कोई कमी नही है ध्यान इस बात का देना होगा कि उस पैसे का सही से उपयोग होना चाहिये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *